Current affairs 2019 January in hindi करंट अफेयर्स समसामयिक

Current affairs 2019 January in hindi करंट अफेयर्स समसामयिक Latest Current Affairs Quiz January 2019 Click Here to Read Current Affairs January Current Affairs January 2019 Pdf Download

Current affairs January 2019

1. संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम ने प्रदूषण से लड़ने को किस भारतीय शहर को टॉप पांच मॉडलों में से एक माना है?
2. युनेस्को ने मानवता की अमूर्त सांस्कृति के तौर पर किस भारतीय मेले को मान्यता दी है?
3. राज्यों के बिजली और ऊर्जा मंत्रियों के सम्मलेन की अध्यक्षता किसने की?
4. किस संस्था ने म्युचुअल फंड को कमोडिटी डेरिवेटिवस में निवेश की छूट देने का प्रस्ताव किया है?
5. साइकॉन 2017 का आयोजन किस शहर में हुआ?
6. दिल्ली सरकार ने किस अस्पताल की मान्यता रद्द की है?
7. किस देश ने चंद्रमा पर रोबोट स्थापित करने की योजना बनाई है?
8. हरियाणा सरकार ने किस अस्पताल की जमीन लीज खत्म की है?
9. जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति के रूप में किसे नियुक्त किया गया है?
10. किस राज्य में 'पट्टाभी सीतारामय्य-स्व-व्यवसाय समूह' योजना शुरू की गई है?
Ans : 1. अलाप्पुझा, केरल 2. कुंभ 3. राजकुमार सिंह 4. सेबी 5. नई दिल्ली 6. मैक्स अस्पताल 7. चीन 8. फोर्टिस अस्पताल 9. एमर्सन मननगाग्वा 10. आंध्र प्रदेश 

करंट अफेयर्स समसामयिक :  जब पढने में मन न लगे तो क्या करे ?

दोस्तो, अकसर प्रतियोगी परीक्षाओ की तैयारी करने वाले प्रतियोगियों के सामने यह समस्या आती है, कि पढाई में मन नही लगता है । मगर पढना प्रतियोगी परीक्षा के लिए बहुत जरुरी है । तो मेरे अनुभव और विचार से तो सबसे पहले पढाई में मन न लगने के कारन का पता लगाना चाहिए कि आखिर पढाई में मन क्यों नही लग रहा है
मेरे विचार से कुछ सामान्य कारण ये हो सकते है :
१- पढाई का उपयुक्त माहौल का न होना ।
२- पढने का उचित समय का न होना ।
३- पढने के लिए उपयुक्त सामग्री का न होना ।
४- उचित मार्गदर्शन का न होना ।
५-अन्य कार्यो से व्यवधान ।
६- एकाग्रता की कमी होना ।
७- दृढ निश्चय का अभाव।
Daily Current Affairs In Hindi 2019 Application is fast simple and main useful for following exams. All the Government exams
मेरे ख्याल से उपरोक्त सामान्य कारणों से सामान्यतः प्रतियोगी पढ़ नही पाते है , इनके अलावा भी कुछ अन्य विशेष कारण हो सकते है , जो अलग अलग लोगो के लिए अलग हो सकते है । आज हम इन्ही सामान्य कारणों की चर्चा करते है । इन कारणों में सबसे महत्वपूर्ण कारण जो है , वो है उचित मार्गदर्शन का न होना । उचित मार्गदर्शन का प्रतियोगी परीक्षाओ में अति महत्वपूर्ण स्थान है । जैसे आपको अगर दिल्ली जाना है , और आपको सही रास्ता मालूम नही , अगर आपको सही मार्गदर्शक नही मिला तो हो सकता है , कि आप किसी तरह से दिल्ली पहुच भी जाये मगर इसमें आपका बहुत सारा समय और धन खर्च हो सकता है । मगर सही मार्गदर्शक मिलने पर आप समय के साथ धन भी बचा सकते है , और अपनी मंजिल पर सही वक़्त पर पहुच सकते है । अतः सही ढंग से तैयारी शुरू करने के लिए एक उपयुक्त मार्गदर्शक अतिआवश्यक है । कई बार हम मेहनत और प्रयास तो बहुत करते है मगर सफलता नही मिलती है , दूसरी तरफ कुछ लोग कम मेहनत और कुछ प्रयास में ही सफल हो जाते है ।इसका कारण उनका सही दिशा में सार्थक प्रयास होता है । जैसे - अगर हम कील को उल्टा पकड़कर कितनी भी जोर से दीवार में ठोंके वह नही ठुक सकती है , वही उसे सीधा कर देने पर वह थोड़े प्रयास से ही आराम से ठुक जाएगी । इसी तरह प्रतियोगी परीक्षा में सही दिशा में सही प्रयास बहुत जरुरी है ।
आपको यह जानकारी हरिपाल सिंह नौहवार (पूर्व नौ सैनिक) आगरा द्वारा दी जा रही है । आप इस लेख को अपने दोस्तों को शेयर करे और उन्हें पढने हेतु प्रेरित करे ।

अब हम मूल मुद्दे पर आते है , कि कैसे हम पढाई में मन लगाये : -
सबसे पहले तो पढने के लिए एक लक्ष्य या उद्देश्य होना जरुरी है , यह हमारे लिए प्रेरक का कार्य करता है । अगर लक्ष्य विहीन है ,तो हमारी सफलता शंकास्पद होगी । अतः एक लक्ष्य होना अति आवश्यक है । एक से अधिक लक्ष्य होने से मन अधिक भटकता है और पढाई में मन नही लगता है ।
अब लक्ष्य निर्धारण के बाद समुचित तैयारी जरुरी है , अर्थात हमें अपने लक्ष्य के बारे में पूरी जानकारी जुटानी होगी , कि -
1.परीक्षा कैसे होगी ?
2.सिलेबस क्या है ?
3.पैटर्न किस तरह का है ? Current affairs 2018 January in hindi करंट अफेयर्स समसामयिक
4.प्रश्न किस तरह के आते है ?
5.पाठ्य सामग्री कहाँ से , कैसे मिलेगी ?
6.तैयारी की रणनीति क्या होगी ?
7.सफलता के लिए कितनी मेहनत जरुरी है ?
8.सफल लोगो की क्या रणनीति रही थी ? इत्यादि

अगर हम इन प्रश्नों के उत्तर प्राप्त कर लेते है तो , हमारी समास्या का आधा समाधान हो जायेगा । अब आधे समाधान के लिए हमें अपनी दिनचर्या को व्यवस्थित करना होगा । मतलब सेल्फ मेनेजमेंट यदि हम खुद को सही तरीके से प्रतियोगिता के हिसाब से नही ढाल पाते है, तो सफलता में संदिग्धता होगी । हमें अपनी पढाई का समय और घंटे अपनी क्षमता के अनुसार निर्धारित करने होंगे । और निर्धारित समय सरणी का द्रढ़ता के साथ पालन करना होगा । इसके लिए हम प्रेरक व्यक्तिवो , प्रेरक प्रसंगों, प्रेरक पुस्तकों आदि का सहर ले सकते है ।
आपको यह जानकारी हरिपाल सिंह नौहवार (पूर्व नौसैनिक) आगरा द्वारा दी जा रही है । आप इस लेख को अपने दोस्तों को शेयर करे और उन्हें पढने हेतु प्रेरित करे ।
पढाई करते समय ध्यान देने योग्य बाते :-
१ - पढाई हमेशा कुर्सी-टेबल पर बैठ कर ही करें , बिस्तर पर लेट कर बिलकुल भी न पढ़े । लेटकर पढने से पढ़ा हुआ दिमाग में बिलकुल नही जाता , बल्कि नींद आने लगती है Current affairs 2019 January in Hindi करंट अफेयर्स समसामयिक
२ - पढ़ते समय टेलीविजन न चलाये और रेडियो या गाने भी बंद रखे ।
३ - पढाई के समय मोबाइल स्विच ऑफ़ करदे या साईलेंट मोड में रखे ," मोबाइल पढाई का शत्रु है "४ - पढ़े हुए पाठ्य को लिखते भी जाये इससे आपकी एकाग्रता भी बनी रहेगी और भविष्य के लिए नोट्स भी बन जायेंगे ।
५ - कोई भी पाठ्य कम से तीन बार जरुर पढ़े ।
६ - रटने की प्रवृत्ति से बचे , जो भी पढ़े उस पर विचार मंथन जरुर करें ।
७ - शार्ट नोट्स जरुर बनाये ताकि वे परीक्षा के समय काम आये ।
८ - पढ़े हुए पाठ्य पर विचार -विमर्श अपने मित्रो से जरुर करें , ग्रुप डिस्कशन पढाई में लाभदायक होता है।
९ - पुराने प्रश्न पत्रों के आधार पर महत्वपूर्ण टोपिक को छांट ले और उन्हें अच्छे से तैयार करें ।

१० -संतुलित भोजन करें क्योंकि ज्यादा भोजन से नींद और आलस्य आता है , जबकि कब भोजन से पढने में मन नही लगता है ,और थकावट, सिरदर्द आदि समस्याएं होती है ।
११-चित्रों , मानचित्रो , ग्राफ , रेखाचित्रो आदि की मदद से पढ़े । ये अधिक समय तक याद रहते है ।
१२-पढाई में कंप्यूटर या इन्टरनेट की मदद ले सकते है ।

Current affairs 2019 January in hindi लेख को अपने अधिक से अधिक साथियो के साथ साझा करें ।


SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 comments: